हॉल दिल दा सुणदे

हाल दिल दा सुनाना तेनु मालका,
किधरो दी शुरू मैं करा,
हाल दिल दा सुनाना तेनु मालका,
किधरो दी शुरू मैं करा,
इक दुःख दसा दूजा याद आंदा,
केहडा दसा केहडा न दसा,
हाल दिल दा सुनाना तेनु मालका

दिल उते लाई फिरा चोटा दे निशान मैं ,
शब्दा च किवे करा एहना दा बखान मैं,
याद करा यदो बीतिया बताइया,
याद कर कर सिमरा,
हाल दिल दा सुनाना तेनु मालका

दुश्मना दुश्मनी किती कोई गल नि,
सीने उते भजिया दा सिखवा असल नही,
वार पीठ उते किते जेह्दे मित्रा किवे ओहनू मैं विसरा,
हाल दिल दा सुनाना तेनु मालका

दावा न दलील कोई ना कोई अपील वे.,
कोर्ट न कचहरी कोई  न वकील वे,
दिल खोल मैं दिल दी सुना लवा दस मैं तेथो मांगना,
हाल दिल दा सुनाना तेनु मालका

दुखा नु बुरा मैं आखा साहिल कदे भी ना,
दुखा ने दिता सदा हक मेनू जीन दा,
सिफत मिलदी  रविश सचे झूठ दी बंदे उते दुःख आवे ता,
हाल दिल दा सुनाना तेनु मालका
श्रेणी
download bhajan lyrics (86 downloads)