राम भक्त हनुमान सवारे

सवारे तन्ने,राम के बिगड़े काम
हैं अतुलित बल बुद्धि के धाम
कहवे तन्ने,राम भक्त हनुमान
विराजे तेरे घट में सीता राम

सीता का पता लगाया
लंका ने जला क आया
माता से वर तन्ने पाया
तू अजर अमर कहलाया
मिटाये तन्ने,राम के सब जंजाल
कहवे तन्ने,राम भक्त हनुमान

लछमन के शक्ति लागी
संजीवन बूटी ल्याया
तन्ने राम ने गले लगाया
बोल्या बीर मेरे ने जियाया
पड्या तेरा,संकट मोचन नाम
कहवे तन्ने,राम भक्त हनुमान
सँवारे तन्ने,राम के बिगड़े काम

जित राम नाम गुण गावे
बजरंगी पहरा लावे
संकट निडे ना आवे
तुलसी जो ध्यान लगावे
बने सब,भगतां का प्रतिपाल
कहवे तन्ने,राम भक्त हनुमान
सँवारे तन्ने,राम के बिगड़े काम

लेखक :-रोशनस्वामी"तुलसी" 9610473172