स्वर्गा से आयो संदेश

संतो सुरगा सु आयो है सन्देश,
बुलावो आग्यो राम को,
ओ बुलावो आग्यो राम को,
संतो सुरगा सु आयो हैं सन्देश,
बुलावो आग्यो राम को,

एक मिनट मोहलत दे दू करूँ बेटा से बात,
डिबलया माहि गेहना धरया है,
डिबलया माहि गेहना धरया है,
राजी राजी थे लीजो बाँट,
बुलावो आग्यो राम को,
संतो सुरगा सु आयो हैं सन्देश,
बुलावो आग्यो राम को,


एक मिनट प्रभ म्हाने देओ तो,
करूँ बहुआ से बात,
म्हे तो म्हारो धर्म निभादी,
म्हे तो म्हारो धर्म निभादी,
बांध के राखजो परिवार,
बुलावो आग्यो राम को,
संतो सुरगा सु आयो हैं सन्देश,
बुलावो आग्यो राम को,

एक मिनट प्रभु म्हाने देओ तो,
करूँ बेटी से बात,
मायरेड़ी मन में रह गई,
मायरेड़ी मन में रह गई,
बीरो भरेगो थारो भात,
बुलावो आग्यो राम को,
संतो सुरगा सु आयो हैं सन्देश,
बुलावो आग्यो राम को,

एक मिनट प्रभु म्हाने देओ तो,
करूँ पोता से बात,
दादी जी तो सुरगा चाल्या,
दादी जी तो सुरगा चाल्या,
कुंण तो लड़ासी थारा लाड़,
बुलावो आग्यो राम को,
संतो सुरगा सु आयो हैं सन्देश,
बुलावो आग्यो राम को,

एक मिनट प्रभु म्हाने देओ तो,
करूँ पति से बात,
रोली मोली चुनड़ी मेहँदी,
मोत्या से भर दो मेरी मांग,
बुलावो आग्यो राम को,
संतो सुरगा सु आयो हैं सन्देश,
बुलावो आग्यो राम को,

एक मिनट प्रभु म्हाने देओ तो,
करूँ थासु अरदास बात,
भव सागर से पार करो थे,
भगता रो राखीजो सन्मान,
बुलावो आग्यो राम को,
संतो सुरगा सु आयो हैं सन्देश,
बुलावो आग्यो राम को,


संतो सुरगा सु आयो है सन्देश,
बुलावो आग्यो राम को,
ओ बुलावो आग्यो राम को,
संतो सुरगा सु आयो हैं सन्देश,
बुलावो आग्यो राम को

सुरेश कुमार खोड़ा जयपुर

श्रेणी