श्री राम तेरे नचदे मलंग वेखले

ऐना आशका दे नचने दा ढंग वेखले।
श्री राम तेरे नचदे मलंग वेखेले॥

चाली इक्की दिना दे व्रत बनाये ने।
कुर्ते पजामे लाल परने भी पाए ने॥

सोना पाठ करण दा तू ढ़ंग वेखले।
श्री राम तेरे नचदे मलंग वेखले॥

सारिया सभावा विच बन्दे सरूप ने।
सारे भगत हनुमान जी दा रुप ने॥

ढोल अमित दा वज्जे दम दम वेखले।
श्री राम तेरे नचदे मलंग वेखले॥

धरा तेरा रुप सोनी मूर्ति नु पाया ए।
जय हो जय हो वीर दा जयकारा वी लाया ए॥

तेरे नाम वाला रंगा तन मन वेखले।
श्री राम तेरे नचदे मलंग वेखले॥

लिख्या कुणाल जॉनी गुण तेरा गोंदा ए।
करदे रहिए सेवा वर एहो चौन्दा ए॥

तेरी सेवा विच लग्गे हर दम वेखले।
श्री राम तेरे नचदे मलंग वेखले॥
श्रेणी
download bhajan lyrics (334 downloads)