वधाई गावे ब्रिज नारी

नन्द गांव रावल बरसाना धूम मची है भारी,
बृजमंडल में प्रगट भए है श्री राधिका प्यारी,
वधाई गावे ब्रिज नारी,

बृषभानु लली जैसे कुसम कलि,
कीरत की सुता मिश्री की डली.
देव धनुष किनर गंधर्व बारे मोतियन थारी,
बृजमंडल में प्रगट भए है श्री राधिका प्यारी,
वधाई गावे ब्रिज नारी,

बाबादा जी तप धारी है,
दोनों को खुशिया भारी है,
सुखदा और महिमान के आँगन गूंज रही किलकारी,
बृजमंडल में प्रगट भए है श्री राधिका प्यारी,
वधाई गावे ब्रिज नारी,

नन्द गांव के ग्वालो की टोली,
संग में ग्वालन भोली भोली,
आये दें वधाई अनुमप दे मधुर मधुर गारी,
बृजमंडल में प्रगट भए है श्री राधिका प्यारी,
वधाई गावे ब्रिज नारी,
श्रेणी
download bhajan lyrics (58 downloads)