नच नच नच मेरी मोरनी तू नच

छम छम नाचे तेरी मोरनी मोहन,
तुझे मोर पंख भाये सदा काला रसियां,
इस लिए मैंने मोरनी का रूप ले लियाँ,

नच नच नच मेरी मोरनी तू नच,
मीठी मुरली बजाये तेरा श्याम रसिया,
तेरे रूप ने तो मेरा तन मन मोह लिया,

मोरनी के रंग ढंग काहे तुम्हे भाये है,
इसी लिए पंख तूने माथे पे सजाये है,
लेके मन में उमंग आई कान्हा तेरे संग,
तेरे बिना मेरे कान्हा लागे ना जिया,
मेरे मन में समया तू ही ब्रिज रशियन,
इसीलिए मैंने मोरनी का रूप ले लिया,

मोरनी दीवानी मेरी मेरे गुण गाये है
पंखो का मुकट मेरे माथे पे सजाये है,
मेरी मोरनी दीवानी सच्ची प्रेम कहानी इसके रूप ने बैरागी मेरा मन मोह लिया,
इसका दीवाना हुआ है अब कान्हा रसियां,
तेरे रूप ने तो हाय मेरा रूप मोह लिया,

बड़ी भाग्यशाली भाग्ये वां हु मोरनी,
श्याम जी की सेवा मैंने पाए मन वनवारी,
मुझे भाये श्याम रंग मेरा गोरा गोरा अंग,
मुझे रंगो अपने ही रंग श्याम पिया तेरे रूप ने तो मेरा हाय मन मोह लिया,
इसीलिए मैंने मोरनी का रूप ले लिया,


नच नच नच मेरी मोरनी तू नच,
मीठी मुरली बजाये तेरा श्याम रसिया,
तेरे रूप ने तो मेरा तन मन मोह लिया,
श्रेणी
download bhajan lyrics (154 downloads)