राती सपने दे विच नी गोपाल आ गया

राती सपने दे विच नी गोपाल आ गया,
गोपाल आ गया नंद लाल या गया,

नी ओ उड ,छिके ते चढेया,
मैथो जांदा नहियो फडिया,
नी मै देख दी ही रह गई,
मखन सारा खा गया,

नी ओ बंंसरी मधुर वजावे,
मोरां वागनं पैलां पावे,
नी ओ सावरा सलोना मेरे मन नू भा गया

नी ओ यमुना तट ते जावे,
सखिया नाल रास रचावे
अज सखिया ने ,
शाम नू घेरा पा लया
श्रेणी
download bhajan lyrics (123 downloads)