हम तो कंवर उठा के चले है

हम तो कंवर उठा के चले है,
दुःख ये शिव से अपना कहे गे,
सारी दुनिया है भक्ति की दुश्मन,
भक्त तेरे ये कैसे जिये गे,
हम तो कंवर उठा के चले है,

शिव की भक्ति में हम खो गये है,
चोला भगमा पहन कर है निकले,
नंगे पाँव ही चलते रहे गे,
चाहे जितने भी छाले पड़े गे,
हम तो कंवर उठा के चले है,

मुँह से बम बम है निकल ता,
आँखों में धाम शिव का दिसता,
गंगा जल है ये पीड़ा के आंसू,
शिव के चरणों को धो के रहे गे,
हम तो कंवर उठा के चले है

मेरे शिव जी ही माता पिता है,
मेरे बंधू शिव जी सखा है,
शिव की तीर्थो की यात्रा करेंगे,
शिव से वरदान मुझको मिले गे,
हम तो कंवर उठा के चले है
श्रेणी
download bhajan lyrics (234 downloads)