गुफा सुहानी विच्च भवानी आप वसदी

गुफा सुहानी विच्च भवानी आप वसदी,
माता मेरी सब दे दिलां दे हाल दसदी।

माँ पहाडां दे सोहने नज़ारे,
किते बर्फा ते किते फुहारे।
नच्चा गावां ते ओन्सिआ पावां
दिल मोह लया ठंडीयां हवावा॥

तेरे भवन दिया निक्कीआं गलियाँ,
सोहने मंदिरां च सोने दीया टलीयां।
दर संगतां ने कतीयाँ फलिया,
तेरे बूहे दलीजा मल्लियां॥

लाल चोला ते लाला दी माला,
रूप मैया दा सब तो निराला।
चुन्नी रीजां दे नाल श्रृंगारी
कित्ती चन तारेयां मीनाकारी॥

बग्गे शेर दी आवाज पई आवे,
तेरे मिलने नू दिल ललचावे।
दिल दर्शी दा जद घबरावे,
तेरे भवन दीया फेरीआं लावे॥
download bhajan lyrics (828 downloads)