म्हारे काग आंगने

म्हारे काग आंगणे बोले हेली , गुरु मिलण की आस,
गुरु मिलण की आस , म्हारे राम मिलण आस,
म्हारे काग आंगणे......

इंदर अखाड़े आया हेली , बादल घटा छाया,
जैसे मेरा सतगुरु आया , बिजली के प्रकाश,
म्हारे काग आंगणे.....

झरमर मियो बरसे , यू सबको जीवड़ो हर्षे,
ज्ञानी जीव तो सतगुरु परसे , मूर्ख फिरे उदास,
म्हारे काग आंगणे......

सतगुरु शब्द सुनावे हेली , समज्या सेन लिखावे,
ज्याका जन्म मरण मिट जावे जी , रहे गुरु का दास,
म्हारे काग आंगणे......

गोकुल स्वामी सतगुरु दाता , गणी करू अरदास,
लादूदास दर्शन मन भावे जी , चरण कमल में वास,
म्हारे काग आंगणे.......

प्रजापति म्यूजिकल ग्रुप भीलवाड़ा (राज.) 89479-15979
                   ( चम्पा लाल प्रजापति )
download bhajan lyrics (63 downloads)