बूहे ढोई ना

बूहे ढोईं ना मां, गुस्से हों ना मां
की पता किहनूं कदो लोड पा जावे

भगतां नूंकिस शै दी थोड पै जावे॥
साडी परेशानियां च हुनदी परेशान तूं
औखी जदों घडी आवे रखदी ध्यान  तूं
दुखियां दे दुखडे निवारने है तुम,
कम् काज बिगडे सवारने है तुम।
बूहे ढोईं ना मां गुस्से होईं ना मां॥

तेरे हतथ सौंपी होईं जिहना पतवार मां
औहनां नूं मलाह बन चूम ही लौना पार मां
तूं ही रोनदे चेहरयां नूं गया देना ए,
गले लाके सब नूं दिलासा देना ए।
बूहे ढोईं ना मां गुस्से होईं ना मां।॥

बचचेया नूं कंडा चुभे दर्द होवे मॉवा नूं
ताहीओं असीं लभदें हां तेरियां ही छावां नूं,
मॉवां नूं ही ठणडीयां छांवां आखदे
सारे ही सवाली तेरे वल झाकदे।
बूहे ढोईं ना गुस्से होई ना॥

बूटा जदों कोई मुरझाए गा नी मां,
इलजाम मालियां ते आए गा नी मां।
मंगतेयां हमेशा एथे औंदे रहना,
निदोष टललीयां बजौंदे रहना ए
बूहे ढोई ना मां गुस्से होई ना मां ॥॥॥॥
download bhajan lyrics (105 downloads)