पवन पुत्र बजरंग बलि

पवन पुत्र बजरंग बलि श्री राम दूत हनुमान आसरो तेरो है,

सिया राम जी के चाकर थे मन में राम वसा करके,
जे रावण की दरवार बीच में होती वाह वाह श्याम,
आसरो तेरो है....

शक्ति लक्ष्मण के लागि पल भर में मुरशा आगी,
व्याकुल हो गये राम नैन सु झड़ी आस यु लागी,
आसरो तेरो है.....

रूप कपट को धराया से माया के मत वाला से,
राम लखन दो नु लाये एही रावण ने मारया से,
अधरी अमर तेरी गाथा  स्वामी वीर वीर बलवान,.
आसरो तेरो है....

लाल लंगोटे वाला से राम नाम मतवाला से,
राजू कहे बे गया ओ भक्त की लाज  बचाओ,
बल भुधि देने वाले दुखियो के जीवन प्राण,
आसरो तेरो है......
download bhajan lyrics (115 downloads)