ऐ प्रीत कदे छुटनी नहीं

ऐ प्रीत कदे छुटनी नहीं,
ऐ  डोर कदे टूटनी नहीं,
साह मुकदे ते मूक जावन,
मैं तेरा दर छड़ दी नहीं,
ऐ  प्रीत कदे छुटनी नहीं....

तेरे दर ते आ गई आ,
हुन लेके आसा मैं,
जे तू वि नहीं रखाया,
फिर किस वाल जावा मैं,
मैनु तेरा ही सहारा है,
तू मुख कदे मोड़ी ना,
ऐ प्रीत कदे छुटनी नहीं....

मैनु लेखे विच लावो जी,
खैर नाम वाली पावो जी,
झोली अड़ के मैं बैठी हां मैनु ऐवे ना रुलाऊ जी,
सदा तेरे बिन दुनिया विच कोई होर सहारा नहीं,
ऐ प्रीत कदे छुटनी नहीं...
download bhajan lyrics (104 downloads)