तेरे जेहा होर कोई ना

वे मैं वेख लया जग दा नज़ारा,
वे तेरे जेहा होर कोई ना।
लाल नन्द जी दा सब कोलो प्यारा,
वे तेरे जेहा होर कोई ना॥

रूप दा समुन्दर, रस दा खुमार नी,
जेहडा ऐनू वेख लैंदा, दिल जांदा हार नी।
ना ओ जींदा, ना ओ मरदा बेचारा,
वे तेरे जेहा होर कोई ना॥

देख देख रूप तेरा मन नहिओ भरदा,
सोहनेया क्यूँ करदा ए बार बार पर्दा।
प्यार पा के हुण कर ना किनारा,
वे तेरे जेहा होर कोई ना॥

तेर नाल लगीयाँ ने, लगीयाँ निभावंगे,
दिल तैथों वार दित्ता, जान वार जावांगे।
तेरे बिना हुण साढ़ा ना गुजारा,
वे तेरे जेहा होर कोई ना॥

मन वे तू करदा ए हमेशा मन-मानीयाँ,
इक गल मन मेरी, तरले मैं पानियां,
रक्खी चरना च दे के सहारा,
वे तेरे जेहा होर कोई ना॥
श्रेणी
download bhajan lyrics (793 downloads)