ओ मेरे बाबा बजरंगी तेरी जय जयकार मनाएंगे

ओ मेरे बाबा बजरंगी तेरी जय जयकार मनाएंगे
जय जयकार मनाएंगे तेरी जय जयकार मनाएंगे
ओ मेरे बाबा बजरंगी तेरी जय जयकार मनाएंगे ॥

करम खोल दे उन भक्तो के जो अखियां से आंदा से,
नैन अगर मिल जाएगी तो तेरा दर्शन पाएंगे
ओ मेरे बाबा बजरँगी तेरी जय जयकार मनाएंगे ॥

करम खोल दे उन भक्तो के जो पैरो से लंगड़े से
पैर उन्हें मिल जायेगे तो तेरे दर पे आएँगे
ओ मेरे बाबा बजरँगी तेरी जय जयकार मनाएंगे ॥

करम खोल दे उन भक्तो के जो वाणी से गूंगे से,
वाणी उन्हें मिल जाये गी तो गीत तेरे गाये गे,
ओ मेरे बाबा बजरँगी तेरी जय जयकार मनाएंगे॥

करम खोल दे उन भक्तो के जो वाणी से वंचित है
वाणी अगर मिल जाएगी तो राम नाम धुन गाएंगे
ओ मेरे बाबा बजरँगी तेरी जय जयकार मनाएंगे॥

करम खोल दे उन भक्तो के जो माया से निर्धन से,
माया उन्हें  मिल जाएगी तो नित का संत जमाये गे,
ओ मेरे बाबा बजरँगी तेरी जय जयकार मनाएंगे ॥

कर्म खोल्दे उन भक्ता का पुत्र नहीं जिह्न के घर में,
पुत्र रत्न धन पा जावे तो जात जडूला आवे गे,
तेरी जय जयकार मनाएंगे


download bhajan lyrics (19 downloads)