आजा भोले नाथ साथ में

आजा भोले नाथ साथ में मिलके रंग जमावांगे
में घोटुंगा भांग नाथ फिर पीके धुम मचावांगे

तेरे भक्त की चौधर कितनी भोले में सबने दिखा दुगा
नीलकण्ठ पे एसी आली दो गाड़ी भिजवा दुगा
रस्ते में तेरे खाण पिन ने टैंंट सकडौ ला दुगा
नीलकंठ पे होंगे फिर खांंदे पींदे आवांगे- में घोटुंगा भांग

कुंडी सोटै भोले नाथ मैने कद के लाके धर राखे
दुध दही के फरमा भी मैने घी के पीपे भर राखे
घास नांदिया की खातिर मैने चार बरिंडे भर राखे
पहाडा ने जा भुल भोले आपा इत ही मौज उडावांगे- में

सत्तर किले भांग भोले मेंं ताजी रोज पिलाउंगा
रगड -2 के कुंड में फिर निखडु दूध मिलाउंगा
बैठे तेरे चरणों में भोले घोट -2 के प्याउंगा
चले खेत मेंं नहर भोले आपा कुद -2 के नहावांगे- मे

तावल करके आजा भोले देखु सु तेरी बाट कती
सारी तैयारी कर राखी में ल्यादुंगा तेरे ठाठ कती
कर्णसिंह तेरा भक्त कसुता नही किसी ते घाट कती
तु भोला में दिल का भोला फिर दोनो मैल मिलावांगे-
में घोटुंगा भांग नाथ फिर पिके

संदीप स्वामी
खिजुरीवास, अलवर (राज०)
श्रेणी
download bhajan lyrics (52 downloads)