तेरे दर पर सर झुकाया

तेरे दर पर सर झुकाया तुझे दुख में हम पुकारे हैं,
बस जी रहे हैं बाबा तेरे नाम के सहारे,

रहने दो मुझको बाबा चरणों के पास अपने ,
जीवन गुजार दूंगा सेवा में मैं तुम्हारी ,
तेरे दर पर सिर झुकाया....

दुनिया की मोह माया घेरे हैं मुझको आकर,
इस दुख से मेरे बाबा तू ही मुझे उबारे ,
तेरे दर पर सिर झुकाया....

इक आस कर दो पूरी तुम मेरी मेरे बाबा,
बंदा तड़प रहा है दर्शन बिना तुम्हारे,
तेरे दर पर सिर झुकाया....

Suresh Sharma
9460775781
download bhajan lyrics (287 downloads)