ना तो शिरड़ी की गलियां सोती है

ना तो शिरड़ी की गलियां सोती है,
ना तो शिरड़ी का राजा सोता है,
आओ चलो शिरड़ी में देखो एसा यहाँ होता है,
ना तो शिरड़ी की गलियां सोती है,

जो भी फकीर के मन को भाये,
शायद फ़कीर होगा,
जिसने साईं को दिल से पुकारा कुछ तो जरुर होगा,
साईं उसको गले से लगाते है कोई तन्हाई में जब भी रोता है.,
ना तो शिरड़ी की गलियां सोती है,

आओ चलो शिरड़ी में देखो,
ऐसा यहाँ होता है,
ना तो शिरड़ी की गलियां सोती है....

साईं से इतनी गुज़ारिश है मेरी,
हो न कभी ये जुदाई,
दामन में अपने छुपाके साईं तू ही देना गवाही,
उसे जीवन मरण की खबर क्या है जो साईं के चरणों में होता है,
ना तो शिरड़ी की गलियां सोती है,
श्रेणी
download bhajan lyrics (115 downloads)