म्हारा भोला लहरी थारी

म्हारा भोला लहरी थारी तो जटा में गंगा रम रही रे

माथे उप्पर चंद्र बिराजे लहरी ,
म्हारा भोला लहरी  तन में भस्म थांके रम रही रे ...

आंक धतूरा को भोक लगत लहरी ,
म्हारा भोला लहरी भंगिया घुट रही  न्यारी रे .....

पहनो मृग छाल भोले  ओढे नहीं साल लहरी  ,
म्हारा भोला  लहरी  गल साँपन की  माला डल रही  रे ...

म्हारा भोला  लहरी थारी  तो  जटा में गंगा  रम रही रे ..

गायक --- टिंकू शर्मा खण्डार तहसील जिला सवाईमाधोपुर राजस्थान
मोबाइल न. -- 9602629718
श्रेणी
download bhajan lyrics (147 downloads)