दस मेरे मालका

दस मेरे मालका कोई एहो जेहि था,
बेठी तने जिथे तेरा भजन करा ।॥

जिथे कोई दुनिया दा शोर ना होवे,
तेरे बिन मालका कोई होर ना होवे,
नाम हवा ते मैं तेरा ही सुना,
जिथे........

पंज लुटरे मिंजो रोज ही लुट दे,
लूटना चाहंदे मिंजो विच जग दे,
एहना दा मुकाबला कइया मैं करा,
दस मेरे मालका......

कट के चोराशी चोला पाया प्रभु जी,
किसी भी कम नही आया प्रभु जी,
चल दियां सांसा नाम तेरा जपा,
दस मेरे मालका....
download bhajan lyrics (333 downloads)