इतना ना सज मेरे बाबा

इतना ना सज मेरे बाबा तू नजर लग जाएगी नजर लग जाएगी,
गेरो की हम क्या कहे नजर अपनों की तुझे लग जाएगी,

सावल सा मुखड़ा तेरा सरकार नजर न हटती हम देखे जितनी बार,
फूलो का हार जैसे बहार अरे बांका जो चोला पहना है सोना चाँदी कख नहीं,
इतना ना सज मेरे बाबा......

कुछ कह ले कुछ करले ये संसार हम प्रेमी है  तेरे लखदातर,
तू जान ले ये मान ले जो तू न हम को तारे गा ये दोष हमारे सर नहीं,
इतना ना सज मेरे बाबा........

जो भी आता बाबा के दरबार खाली न रहता भर जाता भंडार,
जबसे हारे है हम तुम्हारे है,राधा को अपनले तू ज़िंदगी मेरी भी सवर जाएगी,
इतना ना सज मेरे बाबा
download bhajan lyrics (82 downloads)