सुन विनती झंदेवाली माँ,

सुन विनती झंदेवाली माँ,
बड़ा जग में उचा नाम तेरा,
बड़ा शक्तिशाली धाम तेरा,
सुन विनती झंदेवाली माँ....

बच्चो का दुःख क्या होता है माँ होक तू सब जानती है,
तू तीन लोक की माता है, सब दुनिया तुझको मानती है,
किसे अपना हाल सुनाऊ मैं कहा जाके शीश झुकाऊ माँ,
सुन विनती झंदेवाली माँ......

तेरे हाथ में कलम नसीबो की,एक नजर मेहर की कर देना,
दुनिया की खुशिया पास तेरे, मेरा भी दामन भर देना,
तू खाली नही लोटाती है,तू सबकी बात बनाती है,
सुन विनती झंदेवाली माँ.........

सारी दुनिया ने ठुकराया है कही तू भी न ठुकरा देना,
मेरे मन के सुने आंगन में ममता की जोत जगा देना,
मजबूर बरोसा कर के बड़ा तेरे दर दाती आन पड़ा,
सुन विनती झंदेवाली माँ.........
download bhajan lyrics (126 downloads)