ना ऐवे तरसा साईं

ना एवे तरसा साईं वे कर्म कमा साईं,
मैं चावा दीदार तेरा मैं करा इतजार तेरा,
आ दर्श दिखा साईं,

अखियाँ मीच के प्यार लगावा प्यार ज़रा लगदा है,
मन मरजाना रूढ़ पुढ जाना मोह माया वल भज्दा है,
किवे करा किह्नु कवा कर कमाना,
कर उपकार तेरा मैं करा इंतज़ार तेरा,
आ दर्श दिखा साईं,
ना ऐवे तरसा साईं........

दिल विच रह के दिल तो साईंया दूर तू कहणु वस् दा है,
हर पल भगता दे अंग संग आ क्यों फिर मुड़ मुड़ दसना है,
एहो दुया परदे हटा सामने आ मना मैं उपकार तेरा,
मैं करा इंतज़ार तेरा,
आ दर्श दिखा साईं,
ना ऐवे तरसा साईं........

दिल दी दिल विच रख रख साहिल रोग अवाल्डा लाया है,
जिस ली सारा जग ठुकराया उस ने भी फ़रमाया है,
तेरे जेहा किथो लबा फेरा पा मना मैं उपकार तेरा,
मैं करा इंतज़ार तेरा,
आ दर्श दिखा साईं,
ना ऐवे तरसा साईं........
श्रेणी