मोहे अचम्भो है मेने हनुमान नहीं देखे

मोहे अचम्भो है मेने हनुमान नहीं देखे ॥

जनक पूरी में मेने नहीं देखे ॥
वह मेरो जनम भयो मेने हनुमान नहीं देखे ॥

अवध पूरी में मेने नहीं देखे ॥
वह मेरो ब्याह भयो मेने हनुमान नहीं देखे

पंचवटी में मेने नहीं देखे ॥
वहां मेरो हरण भयो मेने हनुमान है देखे

लंका पूरी में मेने नहीं देखे ॥
वहां मुझे राम मिले और मेने हनुमान वही देखे
download bhajan lyrics (164 downloads)