गल सुन मेहरावालियां

गल सुन मेहरावालिया साईंया प्रीता नाल तेरे मैं लाइयाँ,
कसम जन्म जन्म दी खाइयाँ लगियां तोड़ निभावा गी,
तेरा मुखड़ा तक तक साईंयां लख लख शुकर मनवागी,

दिल विच तेरा नूर समाया अंखिया विच मूरत तेरी,
हर पासे दिख्दी मेनू चन वरगी सूरत तेरी,
ना कोई चंगा ना कोई मंदा हर बंदा साईं दा बन्दा,
इज्जत मान मैं देके सब नु शीश झुकावा गी,
तेरा मुखड़ा तक तक.....


जद जद वी तेनु तका मैं रब्ब दे दर्शन हुँदै ने,
कखा वरगे कर्म मेरे लखा दे नाल खलोंदे ने,
दुभ्दी दुभ्दी पार उतर गई तेरा पला फड के तर गई,
उचियाँ शाना वालियां नीवी बन इत्रवा गी,
तेरा मुखड़ा तक....

जद रंग तेरे विच रंगना फिर अपने लाइ की मंगना,
मेहरा दा मीह बरसा सारे संसार ते,
कोई चंगा न कोई मंदा हर बन्दा रब दा बंदा साईं तू कर किरपा सारे संसार ते,

दुखिया दे दुःख निवारी सबना दे काज सवारी,
अन धन देके सबना नु भवसागर पार उतारी,
झोली खुशिया नाल भरदे खुश करना खुश करदे,
एक नजर सवली पा सारे संसार ते,

हर घर विच बरकत हॉवे हर दिल नु दिलासा हॉवे,
चहरे ते रंग ख़ुशी दा बुला ते हासा हॉवे,
हर एक दी आस अधूरी कर वी दे रब्बा पूरी,
मुठिया भर भर भरसा सारे संसार ते,
मेहरा दा मीह बरसा सारे संसार ते


श्रेणी
download bhajan lyrics (124 downloads)