रास्ते च माँ मिल गयी

मैं जांदा पया सी दरबार ते रस्ते च माँ मिल गई,
रूप निक्की जेहि, रूप छोटी जेहि,
रूप निक्की जेहि कन्या दा धार ते रस्ते च माँ मिल गई,
मैं जांदा पया सी दरबार ते रस्ते च माँ मिल गई.........

मैनु कहंदी पहला मैनु चूड़ियां चढ़ा देयो,
नाले इक सोहणी जेही चुन्नी वी दवा देयो,
पहला करो तुस्सी, पहला करो तुस्सी,
पहला करो तुस्सी मेरा श्रृंगार ते रस्ते च माँ मिल गई,
मैं जांदा पया सी दरबार ते रस्ते च माँ मिल गई..........

मैनु कहंदी मंदिरा च की लैण चला ऐ,
केडी ऐसी गल जेडी ओथे कैण चला ऐ,
पहला मैनु दस, पहला मैनु दस,
पहला मैनु दस अपने विचार ते रस्ते च माँ मिल गई,
मैं जांदा पया सी दरबार ते रस्ते च माँ मिल गई.............

गल सी जो दिल वाली सारी ओनू दसके,
करके दो गल्ला कदी रौके कदी हंसके,
इंज लगा जिवे, इंज लगा जिवे,
इंज लगा जिवे होया बेड़ा पार ते रस्ते च माँ मिल गई,
अपने बच्चेयां नू दे गई दुलार ते रस्ते च माँ मिल गई,
नाले बच्चेयां नू दे गई प्यार ते रस्ते च माँ मिल गई,
मैं जांदा पया सी दरबार ते रस्ते च माँ मिल गई..........

मैं जांदा पया सी दरबार ते रस्ते च माँ मिल गई,
रूप निक्की जेहि, रूप छोटी जेहि,
रूप निक्की जेहि कन्या दा धार ते रस्ते च माँ मिल गई....।

जय जय अम्बे माँ
गीतकार - आशीष मल्होत्रा (बटाला पंजाब)
download bhajan lyrics (72 downloads)