रहमता दे मीह बरसा दातिये

( इक तू ना करे ते करे होर केड़ा, मेरी सबे जरूरतां पुरीयां नु,
लोकी तकदे ऐब गुनाह मेरे, ते मैं तकदा रहमता नु तेरीयां नु,
ते मैं तकदा रहमता नु तेरीयां नु॥ )

रहमता दे मीह बरसा दातिये, रहमता दे मीह बरसा,
रहमता दे मीह बरसा दातिये, रहमता दे मीह बरसा,
साडी वी झोली विच खैरा पा दातिये, रहमता दे मीह बरसा,
रहमता दे मीह बरसा दातिये, रहमता दे मीह बरसा,
रहमता दे मीह बरसा दातिये......

हुंदीयां ने पुरीयां मुरादा माये मेरीए नी तेरे दर तो,
आये जो सवाली कदे मुड़दे ना खाली माये तेरे घर तो,
सबना दी झोली खैरा पा दातिये, रहमता दे मीह बरसा,
रहमता दे मीह बरसा दातिये, रहमता दे मीह बरसा,
रहमता दे मीह बरसा दातिये......

जन्नत नसीब हुंदी अमीये रूहानी तेरा मुख वेखके,
घुप जांदे जन्मा दे पाप तेरे चरणा च मत्था टेक के,
दुखां ते कलेशा नु मिटा दातिये, रहमता दे मीह बरसा,
रहमता दे मीह बरसा दातिये, रहमता दे मीह बरसा,
रहमता दे मीह बरसा दातिये......

download bhajan lyrics (204 downloads)