दिन गए ने नवरात्रे दे आ साणु वि चिठ्ठी पायी दातिए

दिन गये ने नवराते दे आ सहनु वी चिठ्ठी पाई दातिये,
दिन पुछदे लमे लमे साह तारिक छोटी पाई दातिये,

दूरो दूरो तेरे दर भगता ने औना है,
अमृत वेले उठ दर्शन पौना है,
सड्डा होर न सबर अजमा,
देर न तू ली दातिये,
दिन पुछदे लमे लमे ........

आंदे जांदे भगत ता उच्ची भेटा गौणगे,
बस ते ट्रैक  लोकी सेकला ते औंगे,
नंगे नंगे पैरी जाना असी आ गरीबा नु भुलाई दातिये,
दिन गये ने नवराते दे........

करके माँ धतोक पौंच जाइये विच मन्दिरा,
किते ने झुकाए शीश वाडिया सिकंदरा,
बड़ा कर तेनु दीद वाला चा किते भूल न जाई दातिये,
दिन गये ने नवराते दे........

download bhajan lyrics (263 downloads)