मोर छत्तीसगढ़ के माटी

मोर छत्तीसगढ़ के माटी तै भारत माँ के साटी, 
मै तोला नवावौ माथा महतारी आती जाती,
मोर छत्तीसगढ़ के माटी तै भारत माँ के साटी, 
मै तोला नवावौ माथा महतारी आती जाती.....

नवा बिहान के नवा सुरूज संग चिरगुन चहकन लागे,
मोर पपीहा रम्हली बाम्हन फूदकत मया बगरागे,
नयन के ज्योती ले साधे आरती करलव स्तुति भंजागे,
माटी महतारी अटल कुंआरी माता के पद पागे,
कल कल कल करथे सरिता, सुर के धरे हे थाथी,
मै तोला नवावौ माथा महतारी आती जाती,
मोर छत्तीसगढ़ के माटी तै भारत माँ के साटी, 
मै तोला नवावौ माथा महतारी आती जाती.....

छत्तीसगढ़ के मया के रंग भारत माँ के सिंगार हे,
दक्षिण कौशल पौरी हरे वो सुख के ये आधार हे,
अन्न इहा के गुरमटीया माटी के सीख सधार हे,
बजुर छाती के परसादे बेटा किसान के सरदार हे,
येदे पेज पसिया अऊ मडिया घुघरी कुल्ठी के सुहाती,
मै तोला नवावौ माथा महतारी आती जाती,
मोर छत्तीसगढ़ के माटी तै भारत माँ के साटी, 
मै तोला नवावौ माथा महतारी आती जाती.....

अन्न हा माता दूध हरे वो जिनगी के निस्तारी हे,
कोनो बेटा करे मजूरी कोनो बाबू अधिकारी हे,
करम कमाई करे ल परही छत्तीसगढ़ महतारी हे,
कोनो दरोगा हवलदार हे, सबो के सेवा दारी हे,
नीति नियाव ला साधे, जीवन मे जाती बिराती,
मै ताला नवावौ माथा महतारी आती जाती,
मोर छत्तीसगढ़ के माटी तै भारत माँ के साटी, 
मै तोला नवावौ माथा महतारी आती जाती....

छत्तीसगढ़ के गढहइया मन ला घेरी बेरी परनाम हे,
छत्तीसगढ़ी भाखा हे गुरतुर कोनो नई परमाण हे,
दक्षिण कौसल के मान ला पाये जिहा खेले भगवान हे,
श्रृंगी सिहावा बस्तर कोन्डा जाने सरी जहान हे,
तीरथगढ़ गंगा बोहाये चिल्फी घाटी हे बंधाती,
मै तोला नवावौ माथा महतारी आती जाती,
मोर छत्तीसगढ़ के माटी तै भारत माँ के साटी, 
मै तोला नवावौ माथा महतारी आती जाती.....

भोर मा भोरम शिव गुण गाथे, तरिया म खोखमा मुस्काये,
भौरा बैरी गुंजार करत गा, मया म संझा लपटाये,
डुंगरी डुंगर माता शक्ति अनहर मया ल बगराये,
राजीव लोचन बैकुण्ठ हरे गा, सरग के सुख ल देवाये,
कान्तिकार्तिक मौनी लाला संग सेवा करे दिन राती ,
मै तोला नवावौ माथा महतारी आती जाती,
मोर छत्तीसगढ़ के माटी तै भारत माँ के साटी,
मै तोला नवावौ माथा महतारी आती जाती,
मै तोला नवावौ माथा महतारी आती जाती.....

जय जोहार जय छत्तीसगढ़

download bhajan lyrics (19 downloads)