श्याम तेरी मुरली ने पागल कर दिया

*श्याम, तेरी मुरली ने, पागल कर दिया ll,
चला नहीं जाए मोहन, घायल कर दिया ll

*धक्क धक्क करके दिल, श्याम मेरा डोले है,
जानती हूँ बंसी तेरी, राधा राधा बोले है ll
बेकरार मोहन मेरा, दिल कर दिया ll,
चला नहीं जाए मोहन, घायल कर दिया,,,
श्याम, तेरी मुरली ने,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

*तूँ क्या जाने मोहन लागी, दिल वाली चोट को,
देखता नहीं तूँ अपनी, बंसी की ख़ोट को ll
कसम से जीना मुश्किल, मेरा कर दिया ll,
चला नहीं जाए मोहन, घायल कर दिया,,,
श्याम, तेरी मुरली ने,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

*बंसी की जगह अपने, होठों से लगा लो तुम,
अरमान है दिल का, दुल्हन बना लो तुम ll
प्रेम ने हारा यह, कमल कर दिया ll,
चला नहीं जाए मोहन, घायल कर दिया,,,
श्याम, तेरी मुरली ने,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

अपलोडर- अनिलरामूर्तिभोपाल
श्रेणी
download bhajan lyrics (237 downloads)