मेरा भी खाता खोल दे

मेरा भी खाता खोल दे, मां अपने दरबार में ll
*जब भी मांगू, जो भी मांगू ll,, मिलता रहे उधार में,
मेरा भी खाता,,, जय हो lll खोल दे, मां अपने दरबार में ll

जो कुछ भी, है शर्तें तेरी, "कागज़ पर लिखवा ले मां*" l
बेशक मुझको, गिरवी रख ले, "मुझसे साईंन करा ले मां" ll
*तां कि कोई, फर्क ना आए ll,, मां बेटे के प्यार में,
मेरा भी खाता,,, जय हो lll खोल दे,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

तूँ है साहू,कार मेरी मैं, "और कहीं क्यों जाऊं मां*" l
तुझसे ही, लेकर के पूंजी, "अपना काम चलाऊं मां" ll
*तेरे सिवा अब, कौन है मेरा ll,, आखिर इस संसार में,
मेरा भी खाता,,, जय हो lll खोल दे,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

ना अनुभव है, काम नया है, "डर नुकसान का भारी है*" l
कुछ तो गुर, सिखला दो मुझको, "चाहिए मदद तुम्हारी है" ll
*दास / रैंपी सफ़ल, हो जाए तेरा ll,, अपने कारोबार में,
मेरा भी खाता,,, जय हो lll खोल दे,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

अपलोडर- अनिलरामूर्तिभोपाल
download bhajan lyrics (86 downloads)