तेरे हाथ मेरी डोर मैं पतंग मेरी माँ

तेरे हाथ मेरी डोर, मैं पतंग मेरी माँ ll
तेरे हाथ मेरी डोर, मैं पतंग मेरी माँ* ll,
जुड़ी रहना हमेशा, मेरे संग मेरी माँ,,,
तेरे हाथ मेरी डोर,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

आना माँ आना मेरे, घर भी नवरातों में l
मेहँदी लगाऊंगी मैं, फूलों जैसे हाथों में ll
होगा लाल गूहड़ा, मेहँदी वाला रंग मेरी माँ*,,,
तेरे हाथ मेरी डोर,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,
माँ*,,, मेरी माँ,,, मेरी माँ,,, मेरी माँ,,,
^
रोज़ तेरा करुँगी, श्रृंगार दाती प्यार से l
फूलों के पिरोऊंगी मैं, हार दाती प्यार से ll
सेज़ फूलों की, फूलों का पलंग मेरी माँ*,,,
तेरे हाथ मेरी डोर,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,
^
साथ माता रानी, मेरे नौ दिन बिता के l
भोग कंजको के संग, जाना लगा के ll
यही अरदास, यही है उमंग मेरी माँ*,,,
तेरे हाथ मेरी डोर,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,F

अपलोडर- अनिलरामूर्तिभोपाल
download bhajan lyrics (40 downloads)