गुरा दे द्वारे चल बन्देया

गुरा दे दवारे चल बन्देया,
जिथे बिगड़ी बनाई जान्दी है....

इस जग दी शोभा नयारी है,
गल मन्दी दुनिया सारी है,
ऐथे नाम जपाया जानदा,
ऐथे अमृत पिलाया जानदा,
गुरा दे दवारे चल बन्देया....

ये दर है सतगुरु प्यारे दा,
ऐथे अर्ज़ सुनाई जान्दी है,
जेह्डा दर्शन तेरा पांदा है,
ओह्दी किस्मत भी खुल जान्दी ये,
गुरा दे दवारे चल बन्देया....

इस दर तो सब कुछ मिल्दा है,
ऐथे बंद नसीबा खुल्दा है,
ऐथे भगतां दी बेड़ी नू,
पार लगाया जांदा है,
गुरा दे दवारे चल बन्देया....

एह दर है सतगुरु प्यारे दा,
ऐथे कर्मा वाले आंदे ने,
अज मैं भी दर ते जाना,
मेरे सतगुरु आप बुलाया है,
गुरा दे दवारे चल बन्देया....
download bhajan lyrics (107 downloads)