कबूल मेरी विनती होनी चाहिए

कबूल मेरी विनती होनी चाहिये ॥
तेरे पागलों में गिनती होनी चाहिये ॥

तेरे नाम का लेके सहारा ॥
चलता है परिवार हमारा ॥
कमी नही कोई होनी चाहिये ॥

तेरे पागलों में गिनती होनी चहिये...

तेरे सहारे चले जीवन नैय्या ॥
आप सम्भालो मन के खेवैय्या ॥
नैय्या मेरी पार बाबा होनी चाहिये ॥
तेरे पागलों में गिनती होनी चाहिये....

दुनिया की परवाह न कोई ॥
जो मरजी तानु समझे कोई ॥
नाम खुमारी चढी होनी चाहिये ॥
तेरे पागलों में गिनती होनी चाहिये ॥

Magician=manjeet सिंह
Pad player=9887203444
अजमेर राजस्थान
download bhajan lyrics (334 downloads)