शिव शंकर दे द्वारे दा

शिव शंकर दे द्वारे दा नज़ारा वेखिया
उसदे दर उत्ते उन्हा दा नज़ारा वेखिया

उनहु जल चडान दी लोड नहीं
उसदे जटा विच गंगा दा नज़ारा वेखिया
शिव शंकर.....

उनहु हार पहनाऊं दी लोड नहीं
उसदे गाल विच सपा दा नज़ारा वेखिया
शिव शंकर.....

उनहु वस्त्र पहनाऊं दी लोड नहीं
उसदे तन उत्ते बसम दा नज़ारा वेखिया
शिव शंकर.....

उनहु भोग लगाउन दी लोड नहीं
उसदी झोली विच भंगा दा नज़ारा वेखिया
शिव शंकर.....
श्रेणी
download bhajan lyrics (189 downloads)