श्याम गोकुल में फिर से तू आजा

श्याम गोकुल में फिर से तू आजा
आज होली है रंग वर्षा जा
रास गोपियाँ के साथ रचा जा
धुन मुरली का फिर से सुना जा
अब चलेगा ना कोई बहाना
श्याम गोकुल में फिर से तू आजा
आज होली है रंग वर्षा जा

सात रंगों से थाली सजा है
तेरे बिन होली सुना पड़ा है
सारे देवगण आये हैं लेकिन
तेरे बिन गोकुल सुना पड़ा है
अब कर ना तू कोई बहाना..2
श्याम गोकुल में फिर से तू आजा
आज होली है रंग वर्षा जा


श्याम सुनले तू मेरा कहना
बाद में फिर तू मुझसे ना केहना
आज राधा रोई कल तू रोयेगा
बाद में आना मंहगा पड़ेगा
आज देरी ना कर कान्हा आजा...२
आके राधा को रंग लगा जा
श्याम गोकुल में फिर से तू आजा
आज होली है रंग वर्षा जा

श्याम गोकुल में फिर से तू आजा
आज होली है रंग वर्षा जा
रास गोपियाँ के साथ रचा जा
धुन मुरली का फिर से सुना जा
अब चलेगा ना कोई बहाना
श्याम गोकुल में फिर से तू आजा
आज होली है रंग वर्षा जा


लेखक & गायक: लव किशन
Lyrics &Singer: Love Kishan
श्रेणी
download bhajan lyrics (246 downloads)