दे चरणा च था दातिया

तेरे रज रज दर्शन पावा,
दे चरणा च था दातिया,
तैनु नित नित शीश झुकावा,
दे चरणा च था दातिया॥

भगत प्यारे तेरे मंदिरा ते आके,
दर्शन पांदे तेरे सोणे जी प्यारे,
तैनु दिल अपने च मैं वसावा,
दे चरणा च था दातिया,
तेरे रज रज दर्शन पावा,
दे चरणा च था दातिया॥

हारा वाले नू भोग लगा के,
चरणामृत मैं पीवा चरण ध्वा के,
फुला वाला मैं हार पहनावा
दे चरणा च था दातिया,
तेरे रज रज दर्शन पावा,
दे चरणा च था दातिया॥

श्रद्धा दे नाले तेरी ज्योत जगाके,
मिश्री ते मेवेया दा भोग लगावा,
तेरे दर दी महिमा नूं गावा,
दे चरणा च था दातिया,
तेरे रज रज दर्शन पावा,
दे चरणा च था दातिया॥
download bhajan lyrics (129 downloads)