प्रभु येसु का प्यार

निरंकुश प्रभु येसु का प्यार सागर से भी गहरा है,
उंची है उसकी सिंहासत, उसकी शोहरत उंची है,
निरंकुश प्रभु येसु का प्यार सागर से भी गहरा है॥

पापी हूँ प्रभु मैं आया हूँ तेरे कपड़ो को छूने को,
हो जाऊंगा मै चंगा प्रभु ये विश्वास है मुझको तो,
निरंकुश प्रभु येसु का प्यार सागर से भी गहरा है॥

दुख मे कराहता मै आया हूँ तुझको लेने घर मेरे,
हो जायेगी दूर सारी बीमारी ये विश्वास है अब मुझको,
निरंकुश प्रभु येसु का प्यार सागर से भी गहरा है॥

आस लगाए मै बैठा हूं दाऊद के पुत्र दया कर दे,
देखूँगा फिर से तेरी रचना को ये विश्वास है मुझको,
निरंकुश प्रभु येसु का प्यार सागर से भी गहरा है,
सागर से भी गहरा है,
सागर से भी गहरा है......
श्रेणी
download bhajan lyrics (166 downloads)