तेरी गुफा च जगदी जग-मग ज्योत नूरानी माँ

तेरी गुफा च जगदी जग-मग ज्योत नूरानी माँ,
चरना नू धोवे गंगा जी दा पानी माँ.....

ऐ सूरज चन सितारे तेरे सेवादार ने सारे,
ऐ पहरा बारो बारी देंदे ने तेरे द्वारे,
तेथो खैरा मंगदे वेखे वड़े दानी माँ,
तेरी रीस कोई नहीं कर सकदा महारानी माँ,
तेरी गुफा च जगदी जग-मग ज्योत नू रानी माँ,
चरना नू धोवे गंगा जी दा पानी माँ....

लखा स्वर्गा तो सोहना तेरा भवन बड़ा मनमोहना,
तेरे दर्शन करके जगदा नैना च लुका के सोना,
तेरी करके दीद दिवाली मौज माननी माँ,
चरना नू धोवे गंगा जी दा पानी माँ,
तेरी गुफा च जगदी जग-मग ज्योत नू रानी माँ,
चरना नू धोवे गंगा जी दा पानी माँ.....

महरा दे शीटे मारे साणु सालो साल बुलावे,
अपने हथि माहारानी साणु लिख-लिख चिठिया पावे,
असा धूड़ तेरे चरना दी मथे लानी माँ,
तेरी रीस कोई नहीं कर सकदा माहारानी माँ,
तेरी गुफा च जगदी जग-मग ज्योत नू रानी माँ,
चरना नू धोवे गंगा जी दा पानी माँ.....
download bhajan lyrics (31 downloads)