मैं भूल ना पाउँगा

मैं भूल ना पाउँगा, तेरे दर की यादें ll
मैं सब को सुनाऊँगा, तेरे दर की यादें* ll
मैं भूल ना पाउँगा, तेरे दर की यादें ll

कैसे कैसे तुम महाँरानी, "अपने दर पे बुलाती हो*" ll
ऊँचे पहाड़ों के नज़ारे, हम सब को दिखलाती हो*" ll
घर घर में सुनाऊँगा, तेरे दर की यादें ll
*मैं सब को सुनाऊँगा, तेरे दर की यादें ll
मैं भूल ना पाउँगा,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

भक्त प्यारे दर पे तुम्हारे, "जयकारे माँ लगाते हैं*" ll
रल मिल के तेरी भेंटे मईया, "सुनते और सुनाते हैं*" ll
इस दिल में वसाऊँगा, तेरे दर की यादें ll
*मैं सब को सुनाऊँगा, तेरे दर की यादें ll
मैं भूल ना पाउँगा,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

गुफ़ा में बैठी तुम महाँरानी, "सबकी झोली भरती हो*" ll
सब बच्चों के सर पर मईया, "हाथ मेहर का धरती हो*" ll
सब को बतलाऊँगा, तेरे दर की यादें ll
*मैं सब को सुनाऊँगा, तेरे दर की यादें ll
मैं भूल ना पाउँगा,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

अपने घर में पहुँच के मईया, "कंज़कें तेरी बिठाता हूँ*" ll
हलवे चने का भोग लगाकर, "दर्शन तेरा पाता हूँ*" ll
सबको बतलाऊँगा, तेरे दर की यादें ll
*मैं सब को सुनाऊँगा, तेरे दर की यादें ll
मैं भूल ना पाउँगा,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

अपलोडर- अनिलरामूर्तिभोपाल
download bhajan lyrics (101 downloads)