लाके प्रीत सतगुरां नाल तोड़ ना

लाके प्रीत सतगुरां नाल तोड़ ना,
तेरा जग विच बंदिया कोई होर ना ॥

भावे पापी होवे भावे होवे संत वे,
तैनू दो गज मिलना ए अंत वे,
जांदी वार तैनू खदरा च तोरना,
तेरा जग विच बंदिया कोई होर ना,
लाके प्रीत सतगुरां नाल तोड़ ना,
तेरा जग विच बंदिया कोई होर ना ॥

कर पाप दी कमाई तू ना रज्ज्या,
तेरा सब कुझ रहना एथे कजया,
जांदी वार तैनू खाली हथ तोरना,
तेरा जग विच बंदिया कोई होर ना,
लाके प्रीत सतगुरां नाल तोड़ ना,
तेरा जग विच बंदिया कोई होर ना ॥

धीयां पुत्र है जग दा ए गहना,
तेरे मरदिया ना नहिओ लेना,
जांदी वार तैनू कलिया नू तोरना,  
तेरा जग विच बंदिया कोई होर ना,
लाके प्रीत सतगुरां नाल तोड़ ना,
तेरा जग विच बंदिया कोई होर ना ॥

ओहना जीवन है सफल बना लेया,
जिहना ध्यान सतगुरां नाल ला लेया,
सतगुरां ओहनू स्वर्गा च छोड़ना,      
तेरा जग विच बंदिया कोई होर ना,
लाके प्रीत सतगुरां नाल तोड़ ना,
तेरा जग विच बंदिया कोई होर ना......
download bhajan lyrics (156 downloads)