मैं बंजारा घनश्याम का

मैं बंजारा घनश्याम का
कोई पता बतादो श्याम का -2
मैं कुंज गलियों में गुमु
मैं जोगी हु ब्रजधाम का।
राधे राधे राधे.......
मैं बंजारा घनश्याम का........



मैं गया ढूंडने बरसाने
ना पता बताया राधा ने
मीरा से कहा वो भी बोली
मुश्किल श्याम के पाने में -2
मैं तो बस इतना जानू
मैं सेवक हु सुखधाम का।
मैं बंजारा घनश्याम का........


गया सुदामा की कुटिया
पूछा कहा श्याम रसिया
बोले थे सुदामा रो रो के
दर्शन ना कन्ईया जी ने दिया -2
मेरा यार मुझे ही भुला
वो राजा द्वारिका धाम का।
मैं बंजारा घनश्याम का........


मैंने कहा हे सूरदास
मुझे पहुंचा दो कान्हा के पास
श्याम के पग लिखने में मगन
हिर्दय में प्रभु का वास -2
रस्थान के द्वारे ढूंढा
किया फेरा श्वीसव धाम का।
मैं बंजारा घनश्याम का........

मैं कुंज गलियों में गुमु
मैं जोगी हु ब्रजधाम का।
राधे राधे राधे.......
मैं बंजारा घनश्याम का
कोई पता बतादो श्याम का.......
श्रेणी
download bhajan lyrics (372 downloads)