मैं तो पसर पसर खांवां धोक ऐ श्याम थारे चरणां में

मैं तो पसर पसर खांवां धोक ऐ श्याम थारे चरणां में,
चरणां में जी थारे चरणां में मैं तो लांबी लांबी,
मैं तो लांबी लांबी, खांवां धोक ऐ श्याम थारे चरणां में,
मैं तो पसर पसर खावां धोक ऐ श्याम थारे चरणां में

कोई तो ख़ुशी सै, कोई डरतो खावै,
कोई तो ख़ुशी सै, कोई डरतो खावै,
कोई थोड़ी खावे कोई बहोत ऐ श्याम थारे चरणां में,
मैं तो पसर पसर खावां धोक ऐ श्याम थारे चरणां में

कोई तो सगाई, कोई फेरां की खावे,
कोई गिगला की करे दण्डोत ऐ श्याम थारे चरणां में,
मैं तो पसर पसर खावां धोक ऐ श्याम थारे चरणां में

कोई तो ऊभो, कोई झुककर खावे,
कोई पुरो ही हो जावै, लोटपोट ऐ श्याम थारे चरणां में,
मैं तो पसर पसर खावां धोक ऐ श्याम थारे चरणां में

कोई तो गुरु के कोई पितरा की खावै,
इसे सुधरे लोक परलोक ऐ श्याम थारे चरणां में,
मैं तो पसर पसर खावां धोक ऐ श्याम थारे चरणां में

धोक जो भी खावे कभी दुःख नहीं पावे,
अमरीश पावे सुख वो तो बहोत ऐ श्याम थारे चरणां में,
मैं तो पसर पसर खावां धोक ऐ श्याम थारे चरणां में
download bhajan lyrics (196 downloads)