मन लाग्यो राम फकीरी म

मन लाग्यो राम फकीरी म ,
आसो काई धरयो दुनिया दारी म ,

जो सुख पाऊ राम भजन म ,
वो सुख नाही अमीरी म,
भली बुरी सबकी सुण लिजों ,
मन काटी गुजारन गरीबी म

हाथ म कुंड़ी बगल म सोटा ,
चारई खुट जागीरी म  
कहे कबीर सूणो भाई साधो ,
साहेब मिलग सबूरी म


प्रेषक प्रमोद पटेल
यूट्यूब पर
निमाड़ी भजन संग्रह
प्रमोद पटेल सा रे गा मा पा
9399299349
9981947823
श्रेणी
download bhajan lyrics (58 downloads)