कलजुग म रे तारणहार देव म्हारो भिलट रहयो गाजी रे

कलजुग म रे तारणहार
देव म्हारो भिलट रहयो गाजी रे
सच्चा मन सी जेन सुमरयो
पल म ओकी फेरी दी बाजी

माता मैदा की आँख को तारो
राजा रेलण को बेटो प्यारो
रोलगाव पाठन को मुकाम
भाई भैरु छे संगी साथी रे

बणी गादी नांगलवाड़ी म
लगी महिमा ऊनी पहाड़ी म
भाई जेन जसो भी सुमरयो
देव म्हारो सबई म छे राजी

करी आस पूरी रे भगतन की
खाली झोली भरी रे जन-जन की
लगई दे किनारा प नाव
देव छे भक्तन को मांझी रे

करा नमन थारा चरणन म
भाई उमेश ख राखो शरण म
हो लिख मोहन थारो गुणगान
चलाव कलम ताजी ताजी रे

प्रेषक प्रमोद पटेल
यूट्यूब पर
1.निमाड़ी भजन संग्रह
2.प्रमोद पटेल सा रे गा मा पा
9399299349
9981947823
श्रेणी
download bhajan lyrics (58 downloads)