द्रोपति न बांध्यो जेख चार तार म

द्रोपति न बांध्यो जेख चार तार म
म्हारी राधा न बांध्यो ओख प्रेम तार म

जात की भीलनी शबरी , दर्शन की प्यासी
दर्शन की प्यासी शबरी दर्शन की प्यासी
बंधी गया राम भाव सत्कार म
म्हारी राधा न बांध्यो ओख प्रेम तार म

दुर्योधन का मेवा तजी , विदुर घर आया
विदुर घर आया श्याम विदुर घर आया
बंधी गया श्याम विधुराणी प्यार म
म्हारी राधा न बांध्यो ओख प्रेम तार म
श्रेणी
download bhajan lyrics (89 downloads)