सच्चे बादशाह मेरी बक्श खता मैं निमाणा

सच्चे बादशाह,
मेरी बक्श खता मैं निमाणा,
तू बेअंत तेरा अंत ना जाना,

सच्चे बादशाह,
मेरी बक्श खता मैं निमाणा,
तू बेअंत तेरा अंत ना जाना

दर तेरे सवाली जो आवै,
मुहो माँगियां मुरादा पावै,
मैं भी आया शरणी,
लाओ अपनी चरणी,
तू बेअंत तेरा अंत ना जाना,
सच्चे बादशाह,
मेरी बक्श खता मैं निमाणा,
तू बेअंत तेरा अंत ना जाना

दीन छोड़ दूनी संग लागा,
नाम ना जपेया तेरा मैं अभागा,
कोई गुण ना पल्ले,
नरक न मैनु झल्ले पाप कमाना,
तू बेअंत तेरा अंत ना जाना,
सच्चे बादशाह,
मेरी बक्श खता मैं निमाणा,
तू बेअंत तेरा अंत ना जाना

तर गए पापी नाम रट के,
कटी चौरासी नाम जप के,
बिसर नाहीं दातार बक्शों,
मेरे करतार दर्श दिखाना,
तू बेअंत तेरा अंत ना जाना,
सच्चे बादशाह,
मेरी बक्श खता मैं निमाणा,
तू बेअंत तेरा अंत ना जाना
download bhajan lyrics (39 downloads)