दूल्हा बने है शिव शम्भु जी आज

बन ठन देखो चले शिव की बारात
दूल्हा बने है शिव शम्भु जी आज
बाजे नगाड़ा ढोल डमरू का साज
दूल्हा बने है शिव शम्भु जी आज

संग में लेके चले बाराती भुत प्रेत की टोली
शुक शानिषर संग में नाचे नाचे संग अगोड़ी,
हुआ रंगीन आज सबका मिजाल
दूल्हा बने है शिव शम्भु जी आज

भस्म लगाये तन पे पेहले देखो मर्ग की शाला
देख छटा हर कोई ढंग है दूल्हा गजब निराला
नाग गले सिर चंदा का ताज
दूल्हा बने है शिव शम्भु जी आज

कोई गांजा चिलम चडावे भंगिया कोई खाए
ज्योती शर्मा हाथ जोड़ के शिव का भजन सुनाये
किसी के न पैर न किसी के है हार
दूल्हा बने है शिव शम्भु जी आज
श्रेणी
download bhajan lyrics (230 downloads)