जो किसी से न केह पाओ

जो किसी से न केह पाओ वो श्याम से बतलाना
कोई राह नही सूजे तो खाटू चले आना
जो किसी से न केह पाओ ......

कमजोर कड़ी तेरी नही जग को बतायेगा
जितने भी मुश्किल है हल श्याम सुजाये गा,
हम दर्द है श्याम तेरा ये भूल नही जाना
कोई राह नही सूजे तो खाटू चले आना
जो किसी से न केह पाओ ......

सब जाने श्याम तेरा तुझपे जो बीता है
क्यों हार के दिल अपना घुट घुट के जीता है
तू अकेला कभी मन में ये ख्याल नही लाना
कोई राह नही सूजे तो खाटू चले आना
जो किसी से न केह पाओ ......

हर फेसला दुनिया का इस के तो हाथ में है
वो श्याम दयालु ही जब तेरे साथ में है
केहता है सचिन प्यारे विपदा से न गबराना,
कोई राह नही सूजे तो खाटू चले आना
जो किसी से न केह पाओ ......
download bhajan lyrics (90 downloads)