लाल लंगोटे वाला है

वो तो लाल लंगोटे वाला है वो तो अंजनी का लाला है

मंगल भवन अमंगल हारी
दरव्हू सुर्दास्र्थ अजर बिहारी
वो तो मंगल करने वाला है
वो तो अंजनी का लाला है

रघुकुल रीत सदा चली आई
प्राण जाए पर वचन न जाई
वो तो वचन निभाने वाला है
वो तो अंजनी का लाला है

संकट से हनुमान चुडावे मन कर्म वचन ध्यान जो लगावे,
वो तो संकट हरने वाला है वो तो अंजनी का लाला है
वो तो लाल लंगोटे वाला है